Mantra 22039

जलन, गुस्सा, और आलस, जैसे धब्बे मेरे देश के ऐश्वर्य पर ग्रहण जैसे लगे हुए हैं। इनके प्रभाव को कम करने के लिये मेरे देश में पुस्तकालयों, ऑफिसों, और कारखानों की शृंखला का निर्माण, संचालन, और रखरखाव आवश्यक है। इस कार्य को पूरा करने के लिये पढे-लिखे देशवासियों की अनुशासित फौज और करोड़ों रुपये की … Continue reading Mantra 22039

Mantra 22040

मेरे देश के कोश का एक बड़ा हिस्सा शिक्षा, स्वास्थ्य, फैशन, और यातायात पर व्यय हो जाता है, जो की जरूरी भी हैं। देश के कोश को भरते रहना देशवासियों का कर्तव्य हैं जिससे देश की सरकार और देश का नेतृत्व देश का ऐश्वर्य बढ़ाने वाले गतिविधियों को अंजाम दे सके। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद … Continue reading Mantra 22040

Mantra 22041

मजदूरों का जीवन स्तर बेहतर कर के ही मेरे देश का ऐश्वर्य बढ़ सकता हैं। इस काम में करोड़ों रुपये का लेन-देन होने की संभावना हैं। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन।

Mantra 22042

मेरे देश में व्यापार जितना बढ़ेगा उतना ही आसानी होगा देश की सरकार और देश के नेतृत्व को देश का ऐश्वर्य बढ़ाने वाले गतिविधियों को अंजाम देने में। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन।

Mantra 22043

कल्पना को यथार्थ में बदलना ही असली पुरुषार्थ हैं। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन। Converting imagination into reality is real effort. Thank you sri Krishna, thank you sri Arjun.

Mantra 22044

मित्र देश अपना-अपना ऐश्वर्य बढ़ाने के लिये कारखानों, विद्यालयों, और चिकित्सालयों का निर्माण करा चुके हैं। अब मेरे देश के ऐश्वर्य के लिये विश्वविद्यालय के निर्माण की आवश्यकता हैं जिसमें 500 करोर रुपए खर्च होने की संभावना हैं। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन।

Mantra 22045

देश में ठंड का माहौल आ गया हैं। मेरे देश की सरकार देशवासियों के लिये गरम कपड़ों की व्यवस्था करने में लग गया हैं। इस कार्य को पूरा करने के लिये 20000 लाख रुपये का निवेश होने की संभावना हैं। मेरे देश के सामने यह चुनौती हैं की ये 20000 लाख रुपये कहा से लाया … Continue reading Mantra 22045

Mantra 22046

हर कोई अपने-अपने देश के विकास में लगा हुआ हैं। सभी देश के सामने रोजगार प्राप्त देशवासियों के क्षमताओं का विकास करना और बेरोजगार, गरीब, और दिशाहीन देशवासियों को रोजगार देना एक बड़ी चुनौती हैं। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन। Everyone is busy in development of there nation. Every nation have a big challenge … Continue reading Mantra 22046

Mantra 22047

इंजीनियर, व्यापारी, चिकित्सक, और अध्यापक मेरे देश के ऐश्वर्य को बढ़ाने में निरंतर कार्यरत हैं। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन। Engineers, Businessmen, doctors, and teachers are constantly working to increase the opulence of my nation. Thank you Sri Krishna. Thank you Sri Arjun.

Mantra 22048

अर्थव्यवस्था पर बढ़ते दबाव को पूरा देश महसूस कर रहा हैं, इससे निपटने के लिये देश की सरकार और देश के नेतृत्व को मेरे देश में प्रेम, शांति, और आभार का वातावरण बनाना चाहिए। धन्यवाद श्री कृष्ण, धन्यवाद श्री अर्जुन। Increasing pressure on economics of the nation can be felt by whole nation, to counter … Continue reading Mantra 22048