Mantra 22351

परमसत्य को प्राप्त करने तक मुझसे बहने वाले भौतिक ताकत का मैं आभारी हूँ। I am grateful to material strength that flowed through me till achieving Paramsatya.

Mantra 22352

 हमारे कार्यों का महत्व समय से परे होना चाहिये, अर्थात हमारा कार्य भूत, वर्तमान, और भविष्य तीनों ही कालों में समान प्रासंगिकता रखे तभी हम संतोष पूर्वक परमसत्य को प्राप्त कर सकते हैं। The importance of our work must remain beyond the limitation of time, it means our work must be relevant in past, present, … Continue reading Mantra 22352

Mantra 22354

 मैं पूरी तरह से स्वार्थी हूँ इसलिए परमसत्य को प्राप्त करने तक मैं उदारता पूर्ण कार्य करने का प्रयत्न करता हूँ। I am perfectly selfish that’s why I try to do generous work while achieving the Paramsatya.

Mantra 22355

 हर कष्ट जिससे मैं उबर गया, हर जरखिद जिस पर मैंने काबू पा लिया और हर दबाव जिसे मैंने चारु भाव से अपने परमसत्य को प्राप्त करने के निश्चय से निष्क्रिय कर दिया वे सभी परमसत्य को प्राप्त करने पर मेरे आत्मा के स्वर्ग में पुण्य कर्म करने के समय सीमा को बढ़ा रहे हैं। … Continue reading Mantra 22355

Mantra 22356

 प्रतिदिन स्नान करने वाले व्यक्ति के बुद्धि, पुरुषार्थ, और यश में वृद्धि होता रहता हैं और परमसत्य के प्राप्त होने पर उसके आत्मा को स्वर्ग में पुण्य कर्म करने का सौभाग्य प्राप्त होता हैं। Intelligence, effort, and fame of the person taking bath daily will increase and after achieving the Paramsatya his spirit will get … Continue reading Mantra 22356

SPKES Mantra 22358

 परमसत्य वह निराकार अध्यात्मिक सत्य हैं जिससे सभी भौतिक सत्य उत्पन्न होते हैं और उसी में विलीन हो जाते हैं।          Paramsatya is that formless spiritual truth from which all the material truth arise and finally dissolute into it.

SPKES Mantra 22359

 कई बार हमारे मन में संशय उठ सकता हैं, लेकिन उस संशय को इच्छा शक्ति से पराजित कर परमसत्य को प्राप्त करना हैं।        Our mind can get disturb from confusion, but conquer the confusion with will power to achieve Paramsatya.

SPKES Mantra 22360

 1 दिन, 1 महीना, या 1 साल में परमसत्य को प्राप्त करना असंभव हैं, उसके लिये कई वर्षों तक तपस्या करना पड़ता हैं।        Achieving the Paramsatya in 1 day, 1 month, and 1 year is not possible, for this we have to penance for many years.